किस तरह गर्भ में बच्चे के साथ भावनात्मक संबंध बनाए – How To Make Emotional Feeling With Unborn Child

जब भी कोई माँ प्रेग्नेंट बनती है और उसके गर्भ के अंदर जो भी बच्चा होता है तो उसको लेकर माँ के मन में काफी ज्यादा एक्साइटमेंट रहती है उसी के साथ ये सवाल अपने मन में लेकर बैठी रहती है की हमारे बच्चे के साथ हमारे भावनात्मक संबंध कैसे होंगे क्या में जो महसूस कर रही हु क्या मेरा बच्चा भी महसूस कर रहा है आइये जानते है की किस तरह आप अपने अजन्मे बच्चे के साथ भावनात्मक संबंध बना सके
नौ महीने तक जब भी आप अपने बच्चे को गर्भ के अंदर कैरी करती है तो आप पुरे नौ महीने तक आप अपने बच्चे को विशेष गाना सुना सकती है ऐसा करने से बच्चे के साथ आप भावनात्मक संबंध बहुत अच्छे से बना सकती है जब भी आप अपने बच्चे को गाना सुनाएंगी तो वह गर्भ में भी उस गाने को सुन सकता है अगर उस गाने को सुन सकता है अगर उस बच्चे का जन्म होगा वह कभी रोएगा तो उस समय आप अपने बच्चे को वही गाना सुनाएगी तो वो रोना तुरंत बंद कर देगा
एक शोध्र से यह बात सामने आई है की यदि गर्भवती महिला हल्के हल्के हाथ से अपने पेट पर मसाज करती है तो ऐसा करने से बच्चे को उस स्पर्श के बारे में अच्छी तरह नॉलेज हो जाती है और इसलिए जन्म के बाद भी वो अपनी माँ के स्पर्श के तरीके को अच्छी तरह पहचानता है ये भी एक अच्छा तरीका है अपने बच्चे के साथ भावनात्मक संबंध बनाने
जब भी आप अकेले बैठे हो तो आप अपने बच्चे से बातचीत कर सकते है ये सुनने में थोड़ा समय लगता है लेकिन यदि आप गर्भवती है तो बेबी कैरी कर रही है तो आप अकेले में बैठकर अपने बच्चे से बात कर सकती है वो गर्भ के अंदर भले ही है लेकिन सारी बाते सुन सकता है और हो सकता है की आपकी किसी बात पर किक मारकर रिस्पॉन्स भी करे
जब भी आपका बच्चा किक करता है तो वो कुछ कहने की कोशिश करता है जैसा की बड़े बुजुर्ग कहते आए है लेकिन यदि आपका बच्चा पेट के अंदर किक करता है तो आपको उसकी बात का जवाब जरूर देना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »